top of page

हमें जाने

नेचर विद्या क्या है ?

 

नेचर विद्या एक द्वी-भाषी (हिंदी - अंग्रेज़ी) पर्यावरण शिक्षा वेबसाइट है जो पश्चिमी हिमालय क्षेत्र के शिक्षकों व अध्यापकों के लिए बनाई गई है।  यह वेबसाइट नेचर साइंस इनिशिएटिव (एन. एस. आई ) द्वारा निर्मित है।

 

नेचर विद्या द्वारा शिक्षकों को सरल अभ्यास सारणी उपलब्ध कराई जाती है जिनके माध्यम से वे बच्चों को कक्षा की चार-दीवारी के  बाहर एक सम्पूर्ण पर्यावरण शिक्षा प्रदान कर सकते हैं। यह अभ्यास सारणी नेचर विद्या के अंतर्गत विभिन्न पर्यावरण शिक्षण कोर्स के रूप में उपलब्ध है जिनका लाभ उठाने के लिए विद्यालयों को कोर्स में भर्ती होने की आव्यशकता हैं। यह कोर्स बच्चों की कक्षा, समझने की क्षमता अनुसार व्यवस्थित हैं। साथ ही विद्यालयों एवं शिक्षकों को नेचर विद्या द्वारा शिक्षक प्रशिक्षण, कार्यक्रम क्रियान्वयन हेतु मार्गदर्शन एवं कार्यान्वयन पैकेज की सुविधा भी उपलब्ध है।

 

नेचर विद्या वेबसाइट पर्यावरण शिक्षा सामग्री की एक वशिष्ट ज्ञानकोष की भूमिका भी निभाती है।  जिसके अंतर्गत हिमालयी वनस्पति और जीव-जंतु, जैव-विविधिता संरक्षण, जलवायु परिवर्तन हेतु फिल्में, पोस्टर, विवरणिका आदि जैसे संसाधन भी उपलब्ध है। यह वेबसाइट प्रारंभिक दौर में जानकी देवी बजाज ग्राम विकास संस्था के सहयोग द्वारा बनाई गई थी। इस वेबसाइट को केंद्रीय वन, पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय के एनविस कार्यक्रम और विप्रो फाउंडेशन से भी समर्थन मिला है।  

 

नेचर विद्या की आव्यशकता 

 

नेचर विद्या कार्यक्रम के अंतर्गत स्थानीय परिपेक्ष से जुड़ी पर्यावरण गतविधियां उपलब्ध है जो हिमालयी तथा तराई क्षेत्र के लिए उपयुक्त हैं। यह गतिविधियां परिस्थितिकी विज्ञानं, जैव-विवधिता, कचरा प्रबंधन व वहनीयता (सस्टेनेबिलिटी) जैसे बुनियादी विषयों पर आधारित हैं। इन गतिविधियों द्वारा बच्चों की विश्लेषण शक्ति और नेतृत्व कौशल को बढ़ावा मिलता है जिनसे वे जलवायु - परिवर्तन जैसी पर्यावरण समस्याओं को सुलझाने में सक्षम व आत्मनिर्भर बनते हैं।

 

नेचर विद्या कार्यक्रम में वास्तविक अनुभव द्वारा सीखने पर ठोस बस दिया है।  जिसके अंतर्गत शिक्षक सरल संसाधनों के माध्यम से बच्चों को स्वतंत्र अवलोकन द्वारा प्रकृति से अवगत करा सकतें है और बच्चे अपने अनुभवों द्वारा अपने पर्यावरण को बेहतर समझ सकतें हैं। यह धारणा राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के नीतिगत दिशानिर्देशों के अनुरूप है, जिनका उद्देश्य बच्चों को अपने आस-पास के स्थानयीय पर्यावरण से जोड़ना है।  

 

एक समृद्ध पर्यावरण शिक्षा बच्चों को आश्वस्त व आत्मनिर्भर युवा बनाती हैं ,जो स्वयं से समस्याओं का हल ढूंढ़ने का कौशल रखतें हैं। ऐसी शिक्षा बच्चों को भविष्य काल में आने वाली पर्यावरण समस्याओं के समाधान करने के लिए उपयोगी पद्धति में सीख भी देती है। कक्षा की चार दीवारी के बाहर दी गई पर्यावरण शिक्षा बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है हमारी आने वाली पीड़ी को पर्यावरण संरक्षण व जलवायु परिवर्तन जैसी समस्याओं के निपटान में सक्षम बनाने में।      

 

नेचर विद्या की कार्य प्रणाली 

nv infographic .png

नेचर विद्या कार्यक्रम की अभ्यास सारणी ऑनलाइन कोर्स के रूप में व्यवस्थित है। जिसका लाभ उठाने के लिए प्रतिभागी विद्यालयों को पहले नेचर विद्या वेबसाइट में अपना पंजीकरण करना है और चयनित कोर्स में भर्ती होना है। विद्यालय नेचर विद्या कार्यक्रम हेतु अपने शिक्षकों का प्रशिक्षण एन.एस.आई टीम द्वारा करवा सकतें है ताकि वे स्वयं ही अपने विद्यालय में नेचर विद्या कार्यक्रम संचालित कर सकें। प्रशिक्षण के इलावा ,एन.एस.आई टीम शिक्षकों को पूरे शैक्षणिक वर्ष के दौरान सहायता और मार्गदर्शन भी प्रदान करेगी। वैकल्पिक रूप से, विद्यालय एन.एस.आई के उच्चतर नेचर विद्या पैकेज के माध्यम से समय-समय पर एन.एस.आई टीम द्वारा अपने परिसर में पर्यावरण शिक्षण की सुविधा का भी लाभ उठा सकतें हैं।  एन.एस.आई की छोटी अनुभवी पर्यावरण शिक्षकों की टीम को अग्रिम रूप से बुक किया जा सकता है यदि विद्यालय उच्चतर नेचर विद्या पैकेज को चुनते है। इस पैकेज की लागत कार्यान्वयन में शामिल गतिविधि सत्रों की संख्या और यात्रा लागतों पर निर्भर है।  सरकारी विद्यालय जो एन.एस.आई कार्यक्रम क्षेत्र के अंतर्गत आते हैं, उन्हें एन.एस.आई द्वारा निशुल्क सहायता पैकेज, विभिन्न संस्थाओं की वित्त सहयोग से प्रदान करा जा सकता है। निशुल्क सहायता पैकेज के अंतर्गत एक शैक्षणिक वर्ष के लिए शिक्षक प्रशिक्षण और गतिविधि क्रियान्वयन का पूर्ण समर्थन शामिल है।

Our Mission

हमारा ध्येय

हमारा उद्देश्य बच्चों को प्रकृति से परिचित करना है जिससे वे जिज्ञासु बनें और अपने पर्यावरण के प्रति संवेदनशील हों।

FB_IMG_1624614754419.jpg

देखें               सोचें             जानें

FB_IMG_1624614769371.jpg

हमारा लक्ष्य

हमारा उद्देश्य पर्यावण शिक्षा को स्थानीय परिपेक्ष में ढाल कर बच्चों के लिए दिलचस्प बनाना है जिससे वह और प्रभावशाली बने। इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए यह आवश्यक है कि शिक्षकों को इस विषय को पढ़ाने के लिए उपयुक्त पाठ्य सामग्री आसानी से उपलब्ध कराई जाये।

हमारे मुख्य उद्देश्य

  • पर्यावरण शिक्षा से जुड़े शिक्षकों में परस्पर सहयोग और जानकारी का आदान प्रदान को प्रोत्साहित करना।  

  • विद्यार्थियों को स्वतंत्र अवलोकन और वास्तविक अनुभवों के माध्यम से प्रकृति से अवगत करना।

  • बच्चों को उनके आसपास मौजूद पेड़-पौधों और जीव-जंतुओं से परिचित कराना।

  • बच्चों को प्रकृति का आदर करने के लिए प्रेरित करना और उनमे पर्यावरण के प्रति संवेदना उत्पन्न कराना।

bottom of page